Black Hat SEO Vs White Hat SEO: Difference समझें

Black Hat SEO Vs White Hat SEO: Difference समझें

Black Hat SEO Vs White Hat SEO in hindi
 
अगर आप काफी दिनों से blogging से जुड़े हैं तो Search engine optimization के तत्व White Hat और Black Hat SEO के विषय में जरुर जानते होंगे, लेकिन नए ब्लॉगर SEO के इन तरीकों में अंतर नहीं समझ पाते हैं| विशेष रूप से जब वो अपने रैंकिंग को सुधारने के लिए कहीं से ‘Backlinks’ के लिए किसी automated website का प्रयोग करते हैं, तो उस समय आपके website को फायदा होने से ज्यदा नुकसान हो जाता है | जब नए ब्लॉगर ये देखते हैं कि Fiverr or Black Hat SEO forum जैसी website पर “Less than 10$ get thousands of link” लिखा है तो वे ऐसे offers को फटाफट खरीद लेते हैं और ऐसे महसूस करते हैं जैसे कोई इनाम जीत लिया है, और बाद में पाता ये चलता है की ये links spam या automated website से आते हैं, जो अच्छा करने से ज्यादा बुरा करते हैं | ऐसे links को Google दण्डित भी कर सकता है | लेकिन मैं इसे पूरी तरह ससे ब्लॉगर की गलती नहीं मानता क्योंकि उन्हें गलत जानकारी दी गई थी |
Black Hat SEO Vs White Hat SEO in hindi
अगर आप नए Blogger में से एक है तो हमेशा याद रखे कि अमीर बनने का कोई shortcut नहीं होता है | Website के views को SEO के माध्यम से बढ़ाना एक धीमी प्रक्रिया है और इसमें बहुत सारी चीजों पर काम करना पड़ता है |  ranking को प्रभावित करने वाले बहुत सारे तत्व होते हैं जिनके बारे में मैं आपसे बाद में चर्च करूँगा | आज हम Black Hat SEO के बारे में बात करेंगे , यह आपको नए ब्लॉगर से होने वाली गलतियों से बचा सकता है और और आपको इससे यह भी पता चलेगा कि अच्छी SEO practices क्या होती है जिन्हे Bloggers द्वारा अपने blog के लिए follow करना चाहिए |

White Hat SEO Techniques

Website को search engine friendly बनाने के लिए कुछ ऐसे तकनीकि भी होती है जिन्हें follow करने के लिए SEO Expert द्वारा highly recommend की जाती है। इन तकनिकी को White Hat SEO techniques कहा जाता है। यह SEO professionals को सही तरीके के उपयोग करने में मदद करती है।

Non-Deception

 
White Hat SEO techniques का पहला और आखिर शर्त  होता है ‘छल’ को जितना हो सके उतना दूर रहें । आपको अपनी website की original copies ही Search Engine और visitors दोनों को प्रदान  करनी चाहिए।

Follow Search Engine Guidelines

Website की Search Engine प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए ही SEO techniques का उपयोग किया जाता है। जो यह भी सुनिश्चित करता है कि website अपने उद्देश्य प्राप्त करें। लेकिन इन उद्देश्यों को search engines guidelines के बिना प्राप्त करना ना केवल इनका उल्लघंन है बल्कि कई बार यह बहुत भारी भी पड़ जाता है। आप Google Webmaster guidelines को यहां देख सकते हैं।

Serve for visitors

White Hat SEO technique साफतौर पर यह कहती है कि website में दी गई Images और सामग्री पाठकों के लिए ही बना हो और यह किसी भी रूप में search engine या परिणाम के अनुसार हेर फेर नहीं हो।
SEO  में content ही मुख्य पहलू होता है, यह कम quality content के लिए बिल्कुल भी जगह देता है। किसी भी SEO professional को अपने search engine और पाठकों के लिए good quality content ही काम में लेना चाहिए जो दोनों के लिए जानकारीपूर्ण  और सहायक हो। High Quality Content कैसे लिखें |
Black Hat SEO Techniques
Black Hat SEO Techniques कही जाने वाली बहुत सारी techniques है जिनकों SEO professionals की ओर से सहमती नहीं किया जाता है या स्वीकारा नहीं जाता। मैं यहां कुछ shortcuts या faulty measures की सूची दे रहा हूं जिन्हें गलत तरीके से SEO करना माना गया है।

Cloaking

कुछ लोग search engine व visitors के लिए एक ही page के दो  version बनाते हैं। जब search engine spider or boat इन pages को crawl करता है तो यह पेज बनाने की Page प्रक्रिया से संतुष्ट तो हो जाता है, लेकिन visitors को display कुछ और ही होता है। यहीं ‘Process Cloaking’ कहलाता है। ये SEO के लिए गलत है  और ये Black Hat Seo के अंतर्गत आता है |

Meta Tag Stuffing

किसी भी SEO की प्रक्रिया को Meta Tag Keyword लिखते वक्त ध्यान रखना चाहिए कि जो पेज में content दिया गया है वे उसे ही प्रदर्शित करें। किसी भी एक keyword का meta tag में जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल हमेशा meta tag stuffing की तरह माना जाता है, जो Black Hat Seo के अंतर्गत आता है |

Keyword Stuffing

इस पर की गई debates में हमेशा confusion रहता है कि कितनी प्रतिशत Keyword Density SEO के लिए अच्छी रहेगी। इसके लिए कोई निश्चित नियम  नहीं है। लेकिन ज्यादातर SEO professionals 2-3% keyword density ही सही  मानते हैं। Search Engines Boats के लिए केवल भ्रान्ति पैदा करने के लिए ज्यादा keyword का उपयोग करना भी गलत technique है और सामान्यतया Keyword Stuffing कहलाता है, Black Hat Seo के अंतर्गत आता है |

Doorway or Gateway Pages

यह low quality web pages होते है जिन पर पर्याप्त सामग्री नहीं होता है, लेकिन यह keyword stuffing से भरे होते हैं। इन Poor Quality Page को बनाने की प्रक्रिया को ही ‘Doorway or Gateway Pages’ कहा गया है, ख़राब webpage आपक के website के ranking को प्रभावित करते हैं, ये भी Black Hat Seo के अंतर्गत आता है |

Mirror Websites

इस process में एक व्यक्ति कई सारी websites अलग-अलग domain name के साथ बनाता है, लेकिन उन सभी में एक ही तरह का content होता है, website के ranking को प्रभावित करते हैं|  

Black Hat SEO और White Hat SEO के बीच Basic difference क्या है?

किसी भी काम को करने के लिए हमेशा दो पक्ष होते हैं एक अच्छा और एक गलत । सिद्धांत SEO Techniques के लिए भी लागू होता है। Search Engines कुछ criteria, parameters और recommended trends का पालन करते हैं। इन्हीं search engines की ओर से बनाई गई guidelines में दी गई techniques को ही White Hat SEO कहते हैं।
लेकिन समस्या तब शुरू होती है जब लोग White Hat SEO को इस तरह इस्तेमाल करना शुरू कर देते हैं जो search engine को बहकाना शुरू कर देता है और spam की तरह फैल जाता है और कुछ ही समय बाद यह Black Hat SEO बन जाता है या जिसे search engines मान्यता नहीं देते हैं । इसी तरह White hat SEO को गलत उपयोग का एक उदाहरण backlink building है। वहीं Guest posting और Article Directory submission जो एक तरह की blogging हुआ करता था, backlink building की वजह से बंद कर दिया गया।
एक तरह से, Black Hat SEO को हमेशा SEO लोगों की ओर से किसी को भी कम समय में ऊपर rank करने के लिए उपयोग किया जाता है और Black Hat SEO techniques का सबसे बड़ा नुकसान है कि वे ज्यादा समय तक काम नहीं करती। वहीं जो website Black Hat SEO का इस्तेमाल करती है उन्हें बड़े search engines की ओर से blacklisted कर उनके webpage को निकल दिया जाता है ।
 
इन सभी सामान्य और महत्वपूर्ण White Hat SEO techniques को follow करना चाहिए। इसके अलावा जब आप किसी SEO company या SEO freelancer को अपनी website को optimize करने के लिए hire करें तो आपको कुछ इस तरह की चीजें निश्चित ही पूछनी चाहिए-
 
कौनसी link building technique का आप उपयोग करेगें?
Website में आप किस तरह के changes करेगें?
इस Keyword के लिए मुझे rank करवाने के लिए आप कौनसी method काम में लेगें?
Mrityunjay Srivastav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *