तेजी से बढ़ रहा है इन्टरनेट पर हिंदी का प्रयोग





विश्व भर में अनगिनत भाषाएँ बोली और समझी जाती हैं उन्ही में से एक है हिंदी भाषा जो 50 करोड़ से ज्यादा लोगों द्वारा बोली और समझी जाती है| Internet सभी भाषाओँ का श्रोत बनता जा रहा है, लेकिन अभी हिंदी भाषा इन्टरनेट पर बहुत कम पढ़ी जाती है | उसका कारण है हिंदी भाषा का internet पर कम उपलब्धता |
लेकिन अब समय बदल रहा है और बहुत तेजी से बदल रहा है, पिछले कुछ समय से internet कि दुनिया में अनेको खोज हुए उससे अंग्रेजी के आलावा अन्य भाषाओँ का प्रचार  प्रसार बहुत तेजी से बढ़ रहा है |
Google ने अपने ads service ‘Adsense’ के लिए पहली बार किसी भाषा को support करना शुरू किया तो हिंदी ही है |
जब हम Blogging शुरू करने जाते हैं तो कई सारे सवाल हमारे मन में उठते है, जिनमे से एक ये भी है कि हम जिस भाषा में शुरुआत करने जा रहे है उस भाषा का भविष्य में संभावना क्या है, इसी सवाल का जबाब इस लेख में खोजने की कोशिस की गई है |
Internet में हिंदी के प्रयोग पर गूगल द्वारा जारी आंकडे:



https://adsense.googleblog.com/2015/08/adsense-hindi-content-infographic.html



गूगल द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार जहाँ इंटरनेट पर अंग्रेजी भाषा में सामग्री का उपयोग साल दर साल 19% की रफ़्तार से बढ़ रहा है, जबकि हिंदी भाषा की सामग्री का उपयोग 94% की तीव्र गति से बढ़ रहा है|
इसके अतिरिक्त इंटरनेट पर हिंदी में सामग्री की मांग भी बढती जा रही है, हर पांच में एक व्यक्ति इंटरनेट का हिंदी में प्रयोग करना पसंद करता है|


क्या है कारण:
हिंदी लेखन हुआ आसान – कंप्यूटर, वेब और मोबाइल पर हिंदी भाषा की बोर्ड की उपलब्धता से हिंदी में टाइप करना बहुत आसान हो गया है,Google के input hindi tools ने तो हिंदी के उत्थान में अभूत पूर्व योगदान दिया |

हिंदी में बहुत सारे यूनिकोड फ़ॉन्ट और शब्द प्रसंस्करण सॉफ्टवेर का विकास – गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और अन्य तकनीकी संस्थानों के कार्यों से इंटरनेट पर देवनागरी लिपि के लिए पर्याप्त संख्या में विभिन्न फ़ॉन्ट और शब्द प्रसंस्करण साधन उपलब्ध हो चुके है| जिसने internet पर हिंदी के प्रयोग को आगे बढ़ाने में मद की है।

हिंदी भाषा में सामग्री की बढती मांग – जैसे-जैसे Hindi को इन्टरनेट पर लिखना आसान होता जा रहा है वैसे -वैसे hindi भाषा के सामग्री की मांग भी बढाती जा रही है | 

भारत में मोबाइल पर गाँव गाँव पहुँच चुका है इंटरनेट –  वर्तमान में भारत में इन्टरनेट का प्रयोग सबसे तेज गति से बढ़ रहा है | गाँव-देहात से बड़ी जनसंख्या मोबाइल के माध्यम से पहली पार इंटरनेट से जुड़ रही है| इसलिए Hindi भाषा की मांग बढ़ रही है |

सरकार का डिजिटल भारत पर विशेष ध्यान और प्रचार-प्रसार – राज्य और केंद्र सरकारों द्वारा विभिन्न सेवाओं और सूचनाओं को लोगों तक पहुँचाने के लिए ई-सेवाओं पर विशेष जोर है|  
इसे भी पढ़ें :-
All India Banks toll free numbers 
True caller से अपना नाम कैसे हटायें 
इंटरनेट अपनाने के लिए प्राइवेसी खोना ज़रूरी क्यों है ? – Google privacy Tips in hindi
Blog या Website बनाने के बाद सबसे पहले क्या करना चाहिए ?

हिंदी में ब्लॉग और वेबसाइट लिखने पर गूगल एड-सेंस से अच्छी कमाई  – गूगल की विज्ञापन सेवा एड-सेंस वेबसाइट और ब्लॉग लिखने वालों के लिए आय का अच्छा स्रोत है इसलिए जब से गूगल ने हिंदी भाषा को भी एड-सेंस कार्यक्रम में शामिल किया है, हिंदी में सामग्री प्रकाशित करने वालों की संख्या भी बढ़ गयी है|

 हिंदी में समाचार और पोर्टल की बढती संख्या – आज भारत के हर हिंदी समाचार पत्र और हिंदी चैनल उसी सामग्री को हिंदी वेबसाइट के माध्यम से भी  प्रकाशित करते है|  

अंतर्राष्ट्रीय वेब सेवाओं का हिंदी भाषा को समर्थन – गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, फेसबुक, ट्विटर सहित सभी मुख्य वेब सेवाएं अपनी सेवा हिंदी में भी उपलब्ध करवा रही है और हिंदी भाषा के लिए सॉफ्टवेयर भी उपलब्ध कराती है|
अगर आप ब्लॉग्गिंग के क्षेत्र में नए हैं और हिंदी से अपनी शुरुआत करना चाहते हैं तो घबराइए नहीं निशिंत हो कर आप अपना ब्लॉग्गिंग का काम जारी रखिये सफलता आपके कदम चूमेंगी |

Mrityunjay Srivastav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *